Subscribe Now

* You will receive the latest news and updates on your favorite celebrities!

Trending News

Blog Post

सारे स्कूलों को पाईप के द्वारा पानी मुहैया करवाने वाला देश का पहला राज्य बना पंजाब
Lifestyle, News

सारे स्कूलों को पाईप के द्वारा पानी मुहैया करवाने वाला देश का पहला राज्य बना पंजाब 

सारे स्कूलों को पाईप के द्वारा पानी मुहैया करवाने वाला देश का पहला राज्य बना पंजाब
चंडीगढ़, 31 दिसंबरः
प्रधानमंत्री की तरफ से देश के सभी स्कूलों और आंगणवाड़ी केन्द्रों में पाईप के द्वारा पीने वाला साफ पानी मुहैया करवाने सम्बन्धी 2 अक्तूबर, 2020 को शुरू की गई 100 दिवसीय मुहिम के अंतर्गत इस लक्ष्य को हासिल करने वाला पंजाब देश का पहला राज्य बन गया है। इसके अंतर्गत राज्य के सभी स्कूलों को पीने के लिए, हाथ धोने के लिए, शौचालयों में प्रयोग के लिए और मिड डे मील तैयार करने के लिए पाईप के द्वारा साफ पानी की सप्लाई मुहैया करवा दी है। पंजाब की इस प्राप्ति संबंधी बीते बुधवार जल जीवन मिशन की ’प्रगति’ स्कीम की समीक्षा के दौरान प्रधानमंत्री को अवगत करवाया गया।
पंजाब सरकार के एक सरकारी प्रवक्ता ने इस सम्बन्धी जानकारी देते हुये बताया कि जल सप्लाई और सेनिटेशन विभाग और स्कूल शिक्षा विभाग की तरफ से राज्य के सभी 22,322 स्कूल, जिनमें 17,328 सरकारी और 4994 प्राईवेट स्कूल शामिल हैं, को जल सप्लाई मुहैया करवा दी गई है। इसी तरह राज्य के विभिन्न गाँवों और शहरों में स्थित आंगणवाड़ियों में भी यह सुविधा मुहैया करवाने के लिए प्रक्रिया अंतिम चरण पर है और निर्धारित 100 दिनों की समय-सीमा के दरमियान मुकम्मल हो जायेगी।
प्रवक्ता ने कहा कि पंजाब सरकार की तरफ से राज्य में पहले ही मिशन तंदुरुस्त पंजाब लागू किया गया है जिसका फिर लक्ष्य राज्य के निवासियों को पीने वाले पानी की साफ सप्लाई मुहैया करवा के तंदुरुस्त सेहत देना है।
यहाँ यह बताने योग्य है कि पंजाब की कैबिनेट की तरफ से 30 दिसंबर, 2020 को सोसायटी फार मिशन तंदुरुस्त पंजाब की स्थापति को मंज़ूरी दे दी गई थी जिससे मिशन तंदुरुस्त के अधीन चलाईं जा रही अलग-अलग गतिविधियों के अलावा खोज और विकास के द्वारा वातावरण, वातावरण बदलाव, जैव विभिन्नता संभाल और टिकाऊ विकास को मजबूती दी जा सके। यह सोसायटी लोगों की सेहत पर पड़ने वाले प्रभावों को घटाने के लिए वातावरण की खराबी को घटाने, वातावरण प्रदूषण के बरसाती प्रभावों को घटाने सम्बन्धित पायलट स्टडी/प्रोजैक्ट पर काम करने के साथ निगरानी का काम और वातावरण सम्बन्धी जागरूकता फैलाने का काम करेगी। इस सोसायटी का मुख्य मंतव्य मिशन तंदुरुस्त पंजाब का कायाकल्प करना है जिससे ’सरकार की पूर्ण पहुँच’ के द्वारा जीवन के लिए रचनात्मक वातावरण पैदा किया जा सके।
इस मुहिम में 8 विभाग अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं जिनमें से स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की जिम्मेदारी मानक भोजन और अरोगी स्वास्थ्य, वन और वन्य जीव रक्षा की तरफ से ग्रीन पंजाब परिवहन सड़क सुरक्षा, खेल और युवा सेवाओं की तरफ से खेलो पंजाब, कृषि एवं किसान कल्याण विभाग की तरफ से उपजाऊ मिट्टी, महिला और बाल विकास की तरफ से पौष्टिक खाद्य, वातावरण मंत्रालय की तरफ से साफ हवा, साफ पानी, कूड़ा कर्कट प्रबंधन के अलावा अन्य वह सभी गतिविधियां जोकि वातावरण और लोगों की सेहत के लिए लाभकारी होने पर काम कर रहे हैं।
हरेक विभाग की तरफ से अपने सब मिशन के अधीन महत्वपूर्ण केंद्र बिंदुओं सम्बन्धी सालाना कार्य योजना तैयार की जाती है जिससे लक्ष्य हासिल किये जा सकें। इसके अलावा मुख्य विभाग और सम्बन्धित विभागों की तरफ से मिशन तंदुरुस्त के उद्देश्यों की पूर्ति के लिए सब मिशन तैयार किये जाते हैं जिससे इस संबंधी होने वाले खोज और विकास अध्ययन, जांच और क्षेत्रीय सर्वेक्षण किये जा सकें जिससे पंजाब के अलग- अलग क्षेत्रों में वातावरण और वातावरण विज्ञान, हवा और पानी की गुणवत्ता का मूल्यांकन और निगरानी करने के लिए जरुरी ढांचेे की मजबूती और लैबोरेटरियों के नैटवर्क को मजबूत किया जा सके। इसके अलावा सेहत प्रभावों के मूल्यांकन, प्रदूषण के स्रोतों, सुझावों के हल, प्रदूषण के खात्मे की प्रक्रियाएं और विधि, वैज्ञानिक अवशेष प्रबंधन, जैव विभिन्नता की संभाल, जंगलों के बाहर पेड़ बढ़ाने और मौसम में तबदीली के अलावा राज्य की अन्य संस्थाओं, अकादमिक और खोज संस्था, गैर-सरकारी संस्थाओं को वातावरण के सुधार के लिए शामिल करने के लिए तकनीकी और वित्तीय सहायता प्रदान करना है।

Related posts

Lifestyle, News

ਸਬ-ਇੰਸਪੈਕਟਰ ਵਿਰੁੱਧ ਰਿਸ਼ਵਤ ਬਾਰੇ ਮਿਲੀ ਆਨਲਾਈਨ ਸ਼ਿਕਾਇਤ- ਵਿਜੀਲੈਂਸ ਵਲੋਂ ਰਿਸ਼ਵਤ ਦਾ ਪਰਚਾ ਦਰਜ ਚੰਡੀਗੜ, 23 ਦਸੰਬਰ: ਪੰਜਾਬ ਵਿਜੀਲੈਂਸ ਬਿਊੂਰੋ ਨੇ ਸ਼ਿਕਾਇਤਕਰਤਾ ਦੀ ਮੱਦਦ ਕਰਨ ਦੇ ਇਵਜ਼ ਵਿੱਚ ਰਿਸ਼ਵਤ ਦੀ ਮੰਗ ਕਰਨ ਵਾਲੇ ਸਬ-ਇੰਸਪੈਕਟਰ ਨਰਿੰਦਰ ਸਿੰਘ (ਨੰਬਰ 1846/ ਪਟਿਆਲਾ) ਖਿਲਾਫ ਰਿਸ਼ਵਤ ਦਾ ਮਾਮਲਾ ਦਰਜ ਕੀਤਾ ਹੈ। ਇਹ ਸਬ-ਇੰਸਪੈਕਟਰ ਪੁਲਿਸ ਚੌਕੀ, ਬੱਸ ਸਟੈਂਡ ਰਾਜਪੁਰਾ, ਜਿਲਾ ਪਟਿਆਲਾ ਵਿਖੇ ਤਾਇਨਾਤ ਸੀ। ਇਸ ਸਬੰਧੀ ਜਾਣਕਾਰੀ ਦਿੰਦਿਆਂ ਪੰਜਾਬ ਵਿਜੀਲੈਂਸ ਬਿਊਰੋ ਦੇ ਬੁਲਾਰੇ ਨੇ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਸਬ-ਇੰਸਪੈਕਟਰ ਨਰਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਵਿਰੁੱਧ ਮਿਤੀ 12.01.2020 ਖਿਲਾਫ ਬਿਊਰੋ ਨੂੰ ਇੱਕ ਆਨਲਾਈਨ ਸ਼ਿਕਾਇਤ ਮਿਲੀ ਸੀ ਜਿਸ ਦੇ ਅਧਾਰ ’ਤੇ ਇਹ ਮਾਮਲਾ ਦਰਜ ਕੀਤਾ ਗਿਆ। ਉਹਨਾਂ ਅੱਗੇ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਸ਼ਿਕਾਇਤਕਰਤਾ ਅਮਨਦੀਪ ਸਿੰਘ ਵਾਸੀ ਰਣਜੀਤ ਨਗਰ, ਪਟਿਆਲਾ ਨੇ ਬਿਊਰੋ ਤੱਕ ਪਹੁੰਚ ਕੀਤੀ ਅਤੇ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਸਬ-ਇੰਸਪੈਕਟਰ ਨਰਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਨੇ ਸ਼ਿਕਾਇਤਕਰਤਾ ਦੀ ਮਾਂ ਅਤੇ ਉਸਦੇ ਚਾਚੇ ਵਿਰੁੱਧ ਦਰਜ ਇੱਕ ਪੁਲਿਸ ਕੇਸ ਵਿੱਚ ਸ਼ਿਕਾਇਤਕਰਤਾ ਦੀ ਮੱਦਦ ਕਰਨ ਬਦਲੇ ਪੈਸਿਆਂ ਦੀ ਮੰਗ ਕੀਤੀ ਸੀ। ਉਹਨਾਂ ਅੱਗੇ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਦੋਸ਼ੀ ਪੁਲਿਸ ਅਧਿਕਾਰੀ ਵਿਰੁੱਧ ਭਿ੍ਰਸ਼ਟਾਚਾਰ ਰੋਕੂ ਕਾਨੂੰਨ ਦੀ ਧਾਰਾ 7 ਤਹਿਤ ਰਿਸ਼ਵਤਖੋਰੀ ਦਾ ਮਾਮਲਾ ਬਿਊਰੋ ਦੇ ਥਾਣਾ ਪਟਿਆਲਾ ਵਿਖੇ ਦਰਜ ਕੀਤਾ ਗਿਆ ਹੈ ਅਤੇ ਅਗਲੇਰੀ ਪੜਤਾਲ ਜਾਰੀ ਹੈ। ———— 

Leave a Reply

Required fields are marked *