Subscribe Now

* You will receive the latest news and updates on your favorite celebrities!

Trending News

Blog Post

तीस हजारी कोर्ट ने दीप सिद्धू को 7 दिन की पुलिस रिमांड में भेजा
punjab

तीस हजारी कोर्ट ने दीप सिद्धू को 7 दिन की पुलिस रिमांड में भेजा 

लाल किला कांड का मुख्य आरोपी दीप सिद्धू की गिरफ्तारी के बाद दिल्ली पुलिस ने किया ये बड़ा खुलासा

दिल्ली में किसान ट्रैक्टर रैली के दौरान लाल किला पर हुई हिंसा मामले के मुख्य आरोपी दीप सिद्धू को गिरफ्तार कर लिया गया है। 15 दिन की फरार रहे दीप सिद्धू को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मंगलवार को दबोच लिया। बता दें दिल्ली पुलिस ने दीप सिद्धू पर 1 लाख रुपए का इनाम रखा था।

गिरफ्तारी के बाद दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने खुलासा करते हुए बताया कि दीप सिद्धू कैलिफोर्निया में रहने वाली एक महिला मित्र और अभिनेता के संपर्क में था। वह वीडियो बनाता था और अपनी दोस्त को भेजता था, जिसके बाद वह उन वीडियो को फेसबुक पर अपलोड कर देती थी।

किसान नेताओं को दी थी खुली चेतावनी
दीप सिद्धू ने कुछ दिन पहले ही फेसबुक लाइव के जरिए किसान नेताओं को खुली चेतावनी दे दी थी। खुद को गद्दार कहे जाने से नाराज सिद्धू ने किसान नेताओं को धमकी दी थी कि अगर उन्‍होंने अपना मुंह खोला और किसान आंदोलन की अंदर की बातें खोलनी शुरू कीं तो इन नेताओं को भागने का रास्‍ता भी नहीं मिलेगा।

आपको बता दें कि दीप सिद्धू पंजाबी फिल्मों के अभिनेता हैं और सामाजिक कार्यकर्ता भी। दीप ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत पंजाबी फिल्म रमता जोगी से की थी, जिसे लेकर कहा जाता है कि इसके निर्माता धर्मेंद्र हैं। दीप सिद्धू का जन्म साल 1984 में पंजाब के मुक्तसर जिले में हुआ है। दीप ने कानून की पढ़ाई की है। वह किंगफिशर मॉडल अवार्ड भी जीत चुके हैं। 17 जनवरी को सिख फॉर जस्टिस से जुड़े केस के सिलसिले में एनआईए ने सिद्धू को तलब भी किया था।

तीस हजारी कोर्ट ने दीप सिद्धू को 7 दिन की पुलिस रिमांड में भेजा

नए कृषि कानूनों के विरोध में 26 जनवरी को राजधानी दिल्ली में आयोजित किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान लाल किले में हुई हिंसा के मामले में गिरफ्तार पंजाबी एक्टर दीप सिद्धू को तीस हजारी कोर्ट ने पूछताछ के लिए 7 दिन की पुलिस रिमांड में भेज दिया है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मंगलवार सुबह दीप सिद्धू को गिरफ्तार किया था। स्पेशल सेल ने सिद्धू को अदालत में पेश करते हुए पूछताछ करके इस पूरी साजिश का खुलासा करने के लिए 10 दिन की पुलिस रिमांड में भेजने की मांग की थी।

तीस हजारी स्थित मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट प्रज्ञा गुप्ता के समक्ष दिल्ली पुलिस ने कड़ी सुरक्षा के बीच दीप सिद्धू को पेश किया। पुलिस ने अदालत में अर्जी दाखिल कर आरोपी दीप सिद्धू को पूछताछ के लिए 10 दिन की पुलिस हिरासत में भेजने की मांग की। हालांकि, अदालत ने सिद्धू को सिर्फ 7 दिन के लिए पुलिस रिमांड में भेजा।

लाल किला तक कैसे पहुंचा, क्या थी योजना?

दिल्ली पुलिस ने अदालत को बताया कि ट्रैक्टर परेड के दौरान लाल किला में हुई हिंसा में आरोपी दीप सिद्धू की सक्रिय भूमिका थी और हिंसा भड़काने वाली लोगों की भीड़ में वह सबसे आगे था। पुलिस ने कहा कि उसके पास सिद्धू के खिलाफ साक्ष्य के तौर पर वीडियो रिकॉर्ड है। पुलिस ने अदालत को बताया कि आरोपी दीप सिद्धू लाठी-डंडे लिए हुए अपने समर्थकों के साथ लाल किले में घुसा था। पुलिस ने अदालत को यह भी बताया कि सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के लिए आरोपी सिद्धू ने भीड़ को भड़काया। पुलिस ने कहा है कि सिद्धू से पूछताछ करके इस बात का पता लगाना है कि वह लाल किला तक कैसे पहुंचा और उसकी क्या योजना थी। पुलिस ने कहा कि इस बात का भी पता लगाया जाना है कि आरोपी का सोशल मीडिया का संचालन कौन और कहां से करता है।

सिद्धू को पंजाब और हरियाणा लेकर जाएगी पुलिस

दिल्ली पुलिस ने कहा है कि मामले में सभी परतों और साजिशों का खुलासा करने के लिए आरोपी को पंजाब और हरियाणा लेकर जाना है। पुलिस ने अदालत से यह भी कहा कि ट्रैक्टर परेड के दौरान तय रूट एवं नियमों की अनदेखी हुई, लाल किले पर धार्मिक झंडा फहराया गया।

अदालत में भी पुलिस ने की पूछताछ

अदालत में भी न्यायाधीश की अनुमति लेकर पुलिस ने सिद्धू से कुछ समय के लिए पूछताछ की गई। अदालत में पुलिस ने सिद्धू से पूछा कि उन्होंने लाल किले तक पहुंचने के लिए लोगों को कैसे बुलाया था। साथ ही पूछा कि इसकी योजना कैसे बनाई गई। पुलिस ने आरोपी से उसके मोबाइल फोन के बारे में भी पूछताछ की।

हिंसा में 500 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हुए थे

गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा में 500 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हुए थे और एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई थी। घटना के बाद से दीप सिद्धू सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट कर रहा था। पुलिस सूत्रों ने बताया कि सिद्धू एक महिला मित्र के साथ संपर्क में था जो कैलिफोर्निया में रहती है। वह वीडियो बनाकर उसे भोजता था और वह सिद्धू के फेसबुक अकाउंट पर उन्हें अपलोड करती थी। उन्होंने बताया कि गिरफ्तारी से बचने के लिए सिद्धू लगातार ठिकाना बदल रहा था।

गौरतलब है कि केन्द्र के तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने की किसान संगठनों की मांग के समर्थन में 26 जनवरी को किसानों ने ट्रैक्टर परेड निकाली थी और इस दौरान किसानों और पुलिस के बीच झड़पें हुई थीं। बहुत से प्रदर्शनकारी ट्रैक्टर चलाते हुए लाल किले तक पहुंच गए थे और उन्होंने वहां एक ध्वजस्तंभ में धार्मिक झंडा लगा दिया था।

Related posts

punjab

ਕੈਬਨਿਟ-12 (ਤਨਖਾਹ ਕਮਿਸ਼ਨ) ਮੁੱਖ ਮੰਤਰੀ ਦਫਤਰ, ਪੰਜਾਬ ਸਰਕਾਰੀ ਮੁਲਾਜ਼ਮਾਂ ਨੂੰ ਵੱਡਾ ਤੋਹਫਾ, ਪੰਜਾਬ ਵਜ਼ਾਰਤ ਵੱਲੋਂ ਛੇਵੇਂ ਤਨਖਾਹ ਕਮਿਸ਼ਨ ਦੀਆਂ ਸਿਫਾਰਸ਼ਾਂ ਪਹਿਲੀ ਜਨਵਰੀ, 2016 ਤੋਂ ਲਾਗੂ ਕਰਨ ਲਈ ਹਰੀ ਝੰਡੀ ਪਹਿਲੀ ਜੁਲਾਈ ਤੋਂ ਮੁਲਾਜ਼ਮਾਂ ਨੂੰ ਘੱਟੋ-ਘੱਟ ਤਨਖਾਹ 6950 ਰੁਪਏ ਤੋਂ ਵਧਾ ਕੇ 18000 ਰੁਪਏ ਪ੍ਰਤੀ ਮਹੀਨਾ ਮਿਲੇਗੀ ਬਕਾਏ ਦੋ ਬਰਾਬਰ ਕਿਸ਼ਤਾਂ ਵਿੱਚ ਅਕਤੂਬਰ 2021 ਤੇ ਜਨਵਰੀ 2022 ਵਿੱਚ ਅਦਾ ਕੀਤੇ ਜਾਣਗੇ 

Leave a Reply

Required fields are marked *