Sunday , September 27 2020
Breaking News

गुरू नानक देव जी का फलसफा ख़ुशहाल समाज सृजन करने में समर्थ -सुंदर शाम अरोड़ा

ग्रैंड मल्टी मीडिया लाइट एंड साउंड शो के दूसरे दिन भी सफल रही आलौकिक पेशकारी
गुरू नानक देव जी का फलसफा ख़ुशहाल समाज सृजन करने में समर्थ -सुंदर शाम अरोड़ा
गुरू साहिब ने सहनशीलता, भाईचारा, प्रकृति के साथ प्यार, महिला सशक्तीकरण और सरबत के भले का उपदेश दिया -अरोड़ा
सुफिय़ाना और रुहानी गायकी के साथ लखविन्दर वडाली ने दूसरे दिन भी समय बांधा
सूचना एवं लोक संपर्क विभाग द्वारा करवाए आलौकिक प्रोग्राम को दर्शकों ने सराहा
चंडीगढ़/सुल्तानपुर लोधी (कपूरथला), 5 नवंबर:
पहली पातशाही श्री गुरू नानक देव जी का 550 साला प्रकाश पर्व मनाने के लिए पंजाब सरकार द्वारा बनाए गए समागम की श्रृंखला अधीन यहाँ विशेष तौर पर स्थापित किये गए ‘रबाब’ नाम के विशाल पंडाल में रौशनी और आवाज़ के सुमेल वाले ग्रैंड मल्टी मीडिया लाईट एंड साउंड शो की आलौकिक पेशकारी दूसरे दिन भी सफल रही।
‘चढिय़ा सोधन धरत लोकाई’ शो की दिलकश पेशकारी के बाद सूफ़ी गायक लखविन्दर वडाली ने दूसरे दिन की शाम भी गुरू नानक देव जी की प्रशंसा और सुफिय़ाना कलाम पेश करके समय बाँधते हुए श्रोताओं को मंत्र मुग्ध किया।
मल्टी मीडिया शो के दूसरे दिन की पेशकारी के मौके पर पंजाब के उद्योग और वाणिज्य मंत्री श्री सुन्दर शाम अरोड़ा ने श्री गुरु नानक देव जी को नतमस्तक होते हुए अपनी हाजिऱी लगवाई। श्री अरोड़ा ने पंजाब सरकार द्वारा मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व अधीन करवाए जा रहे कार्यों का वर्णन करते हुए कहा कि गुरू नानक देव जी का किरत करो, नाम जपो और वंड छको का फलसफा समानता वाले ख़ुशहाल समाज का सृजन करने के लिए समकालीन समय और भी ज़्यादा प्रासंगिक है।
श्री अरोड़ा ने कहा कि गुरू साहिब ने सहनशीलता, शान्ति, आपसी भाईचारे, महिला सशक्तीकरण, प्रकृति और प्राकृतिक सम्पदा की रक्षा करना और सरबत के भले का सर्वव्यापी उपदेश दिया। इसलिए मौजूदा समय की यह मुख्य ज़रूरत है कि हम गुरू नानक साहिब के 550 साला प्रकाश पर्व के मौके पर उनका उपदेश अपने जीवन में दृढ़ करें।
सुल्तानपुर लोधी की पवित्र धरती पर दूर-दराज से पहुँची संगत जहाँ सूचना एवं लोक संपर्क विभाग द्वारा 15 नवंबर की रात तक करवाए जा रहे इस प्रभावशाली समागम को भरपूर प्रोत्साहन दे रही है, वहीं इसकी भरपूर प्रशंसा करते हुए गुरू नानक देव जी की शिक्षाओं से भी अवगत हो रही है।
शो में गुरू नानक साहिब के प्रकाश से लेकर उनकी तरफ से भैंसें चराने, विवाह, वेईं नदी में गोता, न को हिंदु न मुसलमान का उपदेश, उदासियाँ, भाई मर्दाना, भाई लालो के साथ मेल, मलिक भागों, सज्जन ठग, कौडा भील का उधार, वली कंधारी और सिद्धों के साथ वार्ता, श्री करतारपुर साहिब निवास समेत उनकी बाणी, उपदेश और शिक्षा की डिजिटल तकनीकों और लेजऱ शो के ज़रिये बखूबी पेशकारी संगतों को अपने आप जयकारा लगाने के लिए मजबूर करती है।
इस पेशकारी को देख रहे मानसा से आए बलवंत सिंह ने कहा कि वह सुल्तानपुर लोधी की धरती पर कल रात पहली बार आए थे और यहाँ यह शो देखा और आज उन्होंने इसको फिर से देखने के लिए अपना वापसी का प्रोग्राम रद्द कर दिया। इसी तरह सुल्तानपुर लोधी की निवासी एक महिला ने कहा कि उन्होंने कल रात ख़ुद यह प्रोग्राम देखा और इतनी ज़्यादा प्रभावित हुई कि आज अपने माता-पिता को साथ लेकर आई है।
पटियाला से एक परिवार के साथ आए बच्चों ने कहा कि जो कुछ उन्होंने इस शो के द्वारा बाबे नानक संबंधी देखा और सुना है वह उम्र भर भूल नहीं सकेंगे। मोहाली से आई जसविन्दर कौर ने कहा कि गुरू नानक को याद करने के लिए पंजाब सरकार द्वारा इस तरह सभ्यक ढंग से समागम करवाना एक प्रशंसनीय प्रयास है।
सूचना एवं लोक संपर्क विभाग के डायरैक्टर श्रीमती अनिंदिता मित्रा ने बताया कि 6 से 10 नवंबर तक और फिर 13 से 15 नवंबर तक शो शाम 7 बजे शुरू होकर रात 9.15 बजे तक चलेंगे जबकि संगतों की बड़ी संख्या में आने के समय 11, 12 और 13 नवंबर को यह शो शाम 7 बजे से रात 10.30 तक दो-दो बार होंगे।
इस मौके पर डायरैक्टर पर्यटन और सांस्कृतिक मामले स. मलविन्दर सिंह जग्गी, डिप्टी कमिश्नर श्री डी.पी.एस. खरबन्दा, एस.एस.पी. स. सतीन्द्र सिंह और बड़ी संख्या में अन्य धार्मिक, राजसी और सामाजिक शख्सियतों के अलावा दूर-दराज से पहुँची संगत भी मौजूद थे।

About admin

Check Also

ਕੋਵਿਡ-19 ਦੇ ਮੱਦੇਨਜ਼ਰ ਮੰਡੀ ਬੋਰਡ ਵੱਲੋਂ ਝੋਨੇ ਦੀ ਖਰੀਦ ਸਬੰਧੀ ਕਿਸਾਨਾਂ ਅਤੇ ਆੜਤੀਆਂ ਦੀ ਸਹੂਲਤ ਲਈ ਵਿਸ਼ੇਸ਼ ਕੰਟਰੋਲ ਰੂਮ ਸਥਾਪਤ-ਲਾਲ ਸਿੰਘ

ਕੋਵਿਡ-19 ਦੇ ਮੱਦੇਨਜ਼ਰ ਮੰਡੀ ਬੋਰਡ ਵੱਲੋਂ ਝੋਨੇ ਦੀ ਖਰੀਦ ਸਬੰਧੀ ਕਿਸਾਨਾਂ ਅਤੇ ਆੜਤੀਆਂ ਦੀ ਸਹੂਲਤ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: