` किसान कल्याण विभाग की विभिन्न स्कीमों एवं कृषि उपकरणों पर दी जाने वाली सब्सिडी का किसान भरपूर  लाभ उठाएं= उपायुक्त  सुनीता वर्मा.. – Azad Tv News
Home » Breaking News » किसान कल्याण विभाग की विभिन्न स्कीमों एवं कृषि उपकरणों पर दी जाने वाली सब्सिडी का किसान भरपूर  लाभ उठाएं= उपायुक्त  सुनीता वर्मा..

किसान कल्याण विभाग की विभिन्न स्कीमों एवं कृषि उपकरणों पर दी जाने वाली सब्सिडी का किसान भरपूर  लाभ उठाएं= उपायुक्त  सुनीता वर्मा..

किसान कल्याण विभाग की विभिन्न स्कीमों एवं कृषि उपकरणों पर दी जाने वाली सब्सिडी का किसान भरपूर  लाभ उठाएं   ============= उपायुक्त  सुनीता वर्मा
नवीन मल्होत्रा
कैथल, 11 जून
 किसानों से अनुरोध करते हुए जिला उपायुक्त  सुनीता वर्मा ने  कहा कि वे किसान एवं किसान कल्याण विभाग की विभिन्न स्कीमों की जानकारी लेकर कृषि उपकरणों पर दी जाने वाली सब्सिडी का लाभ उठाएं तथा कृषि की उन्नत तकनीकों का उपयोग करके पैदावार में बढ़ोत्तरी करें। श्रीमती  वर्मा आज गांव सिल्लाखेड़ा में फसल अवशेष प्रबंधन अभियान के तहत किसानों को जागरूकता शिविर में संबोधित कर रही थी। उन्होंने कहा कि किसानों को कस्टम हायरिंग सैंटर स्थापित करके कृषि के महंगे उपकरण लेकर उनका उपयोग बारी-बारी से करना चाहिए। इससे ज्यादा कीमत के उपकरणों को उपयोग करने में मदद मिलेगी। उन्होंने बताया कि कुछ कृषि यंत्रों पर सरकार की तरफ से 80 प्रतिशत तक अनुदान दिया जा रहा है, जिसमें हैप्पी सीडर, मलचर, स्ट्रा चोपर, स्ट्रा रीपर, जीरो ड्रिल, स्ट्रा सरेंडर, हे रेक, रिवर्सिबल प्लो, स्ट्रा वेलर, रीपर वाईंडर, रोटरी प्लो शामिल हैं। उन्होंने बताया कि 40 प्रतिशत अनुदान राशि वाले कृषि यंत्रों में 40 से 70 हॉर्स पॉवर का टै्रक्टर, कॉटन सीड ड्रील, रोटरी फ्लो, रीपर वाईंडर, स्ट्रा रीपर, डिस्क हैरो, स्ट्रा बेलर, पॉवर टिलर, सबसोयलर, मेज प्लांटर, मल्टी क्रोप सीड ड्रील, डीएसआर मशीन, मल्टी क्रोप प्रेशर, टै्रक्टर माउंटिड स्प्रेयर, टै्रंच प्लांटर, रेजड बैड प्लांटर, लेजर लैंड लेवलर, हैरैक, कल्टीवेटर, पटेटो डिगर, रिज फूयरो प्लांटर आदि शामिल हैं।
उपकृषि निदेशक डा. महाबीर सिंह ने बताया कि फसल अवशेष प्रबंधन अभियान के तहत विभाग की तरफ से विभिन्न गांव में जागरूकता शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। इन शिविरों में धान की रोपाई, उसमें उपयोग किए जाने वाले खादों के बारे में विस्तार से बताया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कस्टम हायरिंग सैंटर स्थापित करने के लिए कृषि यंत्रों में से कुल लागत का अधिकत्तम 65 प्रतिशत राशि के यंत्र खरीदने अति आवश्यक है। इस अवसर पर उप मंडल कृषि अधिकारी डा. वजीर सिंह, कृषि विकास अधिकारी नरेंद्र सिंह ने भी किसानों को खेती बाड़ी की वैज्ञानिक ढंग से करने की विधि विस्तार से बताई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

लोकसभा चुनाव 2019: पंजाब में दहशतगर्दी के फिराक में जैश-ए-मोहम्मद, राज्य में हाई अलर्ट..

वैश्विक आतंकी घोषित अजहर मसूद पंजाब में लोकसभा चुनाव में गड़बड़ी करने की फिराक में ...

ਲੋਕ ਸਭਾ ਹਲਕਾ ਸੰਗਰੂਰ ‘ਚ ਪੈਰਾ ਮਿਲਟਰੀ ਫੋਰਸ ਦੀਆਂ 8 ਕੰਪਨੀਆਂ ਤਾਇਨਾਤ….

ਸੰਗਰੂਰ, 16 ਮਈ: ਭਾਰਤ ਚੋਣ ਕਮਿਸ਼ਨ ਵੱਲੋਂ ਤਾਇਨਾਤ ਜਨਰਲ ਅਬਜ਼ਰਵਰ ਸ਼੍ਰੀ ਦੇਵੇਸ਼ ਦੇਵਲ ਅਤੇ ਪੁਲਿਸ ...